अजमेर ज्ञानोदय तीर्थ नरोली में होगा भव्य अद्भुत प्रतिमाओ का मस्तकाभिषेक

 ज्ञानोदय तीर्थ नारोली में होगा भव्य मस्तकाभिषेक- अजमेर। संत शिरोमणि परम पूज्य आचार्य गुरुवर विद्या सागर जी महाराज के परम प्रभावक शिष्य मुनि पुंगव सुधा सागर जी महाराज के सानिध्य में नव वर्ष की प्रथम बेला में जैन श्रावक संस्कृति अभिषेक के इतिहास में एक और नया इतिहास रचने जा रहे है। 1 जनवरी 2018 को सूर्य की प्रथम किरण के साथ ही देश विदेश के हजारों हजारों जैन श्रावकों को हजारों हजारों वर्ष पुरानी भूगर्भ से प्राप्त अतिशय कारी  ऐसीजिन प्रतिमाओं का अभिषेक मस्तकाभिषेक करने का परम सौभाग्य प्राप्त होने जा रहा है। जिनकी चर्चा आज से पहले कभी नहीं की गई है। अजमेर के समीप नारोली स्थित ज्ञानोदय तीर्थ क्षेत्र में होने वाले नववर्ष के सबसे बड़े जैन महामहोत्सव की घोषणा से लाखो जैन साधकों का ध्यान नव वर्ष पर होने वाले इस मस्तकाभिषेक महोत्सव की ओर लगा हुआ है। जबसे मुनि पुंगव के श्रीमुख से नव वर्ष पर ज्ञानोदय तीर्थ नारौली में प्राचीन 50 प्रतिमाओं के महा मस्तकाभिषेक समारोह की घोषणा सामने आई है। तब से प्रत्येक जैन  परिवार के सदस्यों के बीच इस बात को लेकर आकांक्षा उत्सुकता बनी हुई है कि आखिर वह कौन सी प्राचीन प्रतिमाएं हैं जिनकी चर्चा देश विदेश में की जा रही है। दरअसल भूगर्भ से प्राप्त यह प्राचीन प्रतिमाओं का समूह करीब 12 वर्ष पूर्व 2006 में टांटोटी अजमेर में निकला जैन पुरातत्व है। जिसमे 50 से अधिक जैन प्रतिमाओ का अब 1से 3 जनवरी 2018 तक ज्ञानोदय क्षेत्र नारेली में महा मस्तकाभिषेक होने जा रहा है। अपने आप में अद्भुत मनोरम नजर आने वाली अतिशय कारी प्राचीन प्रतिमाओं के अभिषेक करने के लिए अभी से देश विदेश के श्रावक जनों द्वारा जिस तरह से उत्सुकता दिखाते हुए अपनी-अपनी अभिषेक एवं शांति धारा की बोलियां लगाई जा रही है उसे देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि नव वर्ष पर नारोली में होने वाला यह महा महोत्सव अपने आप में अत्यंत अभूतपूर्व और अनोखा साबित होगा। नव वर्ष पर पूज्य मुनि सुधा सागर महाराज के ससंघ सानिध्य में ज्ञानोदय तीर्थ नारोली अजमेर में होने वाले 1 जनवरी 2018 के 50 से अधिक प्राचीन प्रतिमाओं के इस महा मस्तकाभिषेक महोत्सव की चर्चाओं ने फरवरी माह में गोमटेश्वर में भगवान बाहुबली के 12 साल में होने वाले महामस्तकाभिषेक की चर्चाओं को पीछे छोड़ दिया है। फरवरी 2018 में गोमटेश्वर में भगवान बाहुबली का महा मस्तकाभिषेक करने के लिए जाने के पहले जनवरी माह  के प्रथम दिनों में अजमेर की नारौली स्थित ज्ञानोदय तीर्थ में प्राचीन 50 जिन प्रतिमाओं के दर्शन पूजन अभिषेक का जो सौभाग्य अर्जित होने जा रहा है उसे हम तो नहीं छोड़ने वाले। यदि आप भी पुण्यशाली जीवो में शुमार हैं तो आप भी नव वर्ष पर ज्ञानोदय तीर्थ पहुंचकर अभिषेक पूजन करने से नहीं चुके। पूज्य मुनि पुंगव के चरणों में बारंबार नमोस्तु के साथ। हे गुरुवर, जिस तरह सपरिवार सांगानेर में भूगर्भ से निकली जिनबिंब का अभिषेक करने का सौभाग्य तथा इसके बाद श्रावक संस्कार शिविर में रहकर निरंतर पूजन अभिषेक करने का सौभाग्य आपके सानिध्य में अर्जित हुआ है। वैसा ही अवसर लाभ हम सभी को नव वर्ष की पूर्व बेला में अर्जित हो सके ऐसा आशीर्वाद दो। गुरु चरणों में समर्पित अटल राजेंद्र जैन रिपोर्ट
About Atal R Jain 2013 Articles
सतत पत्रकारिता का 27 वां वर्ष... 1990-2008 ब्यूरो चीफ दैनिक भास्कर भोपाल, 2009-2014 रिपोर्टर साधना न्यूज मप्र-छग, 2011-2015 रिपोर्टर न्यूज एक्सप्रेस, 2012-से ब्यूरो चीफ जनजन जागरण भोपाल, 2013-2016 ब्यूरो चीफ ओम टीवी न्यूज, 2017 से atalnews24.co [महत्वपूर्ण घटनाक्रम-फोटो-वीडियों 9425095990 पर तत्काल वाटसअप करें ]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.