मेडिकल कॉलेज घोषणा पर खुलासा.. विधानसभा में मंत्री के जबाव से सरकार की मंशा उजागर..

http://atalnews24.co
मेडिकल कॉलेज की मांग करने वालो जरा सावधान- भोपाल। केंद्र सरकार की बजट घोषणा के बाद बुंदेलखंड के दमोह पन्ना छतरपुर टीकमगढ़ जिलों के अलावा कटनी तथा सतना में मेडिकल कॉलेज की मांग को लेकर लगातार ज्ञापन प्रदर्शनों तथा जमीन एवं लाखों की राशि दान दिए जाने की घोषणाओं के बीच जोर आजमाइश का दौर जारी है। वही बुंदेलखंड की जनता की भावनाओं के विपरीत मप्र सरकार यह मेडिकल कॉलेज बुंदेलखंड के बाहर सतना में खोले जाने देने का ना केवल मन बना चुकी है, वरन इस बारे में केंद्र सरकार को अनुशंसा भी कर चुकी है। इस बात का खुलासा विधानसभा में सतना विधायक शंकर लाल तिवारी के ध्यानाकर्षण के जवाब में मप्र के संसदीय कार्य मंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा द्वारा दिए गए वक्तव्य से स्पष्ट हो रहा है। विधानसभा में सतना विधायक शंकरलाल तिवारी के ध्यानाकर्षण के जवाब में संसदीय कार्य मंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा ने वक्तव्य दिया है कि केंद्र शासन ने इस वर्ष केंद्रीय बजट में जिला चिकित्सालयो के उन्नयन की योजना के तहत संसदीय क्षेत्र दमोह, सतना और खजुराहो में से एक स्थान पर जिला चिकित्सालय को शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में उन्नयन करने की घोषणा की है। यद्यपि सतना शहर भारत सरकार की नीति के तहत आवश्यक मापदंडों की पूर्ति करता है। तथापि निर्णय भारत सरकार द्वारा लिया जाना है माननीय मुख्यमंत्री के घोषणा क्रमांक ए 0363 कर सतना में मेडिकल कॉलेज स्थापित करने की घोषणा की है। राज्य शासन सतना में मेडिकल कॉलेज स्थापित करने कृत संकल्प है। प्रदेश के संसदीय कार्य मंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा द्वारा विधानसभा में दिए गए वक्तव्य से सब कुछ साफ होता दिख रहा है। पहली बात तो यह है की दमोह खजुराहो और सतना संसदीय क्षेत्र में से किसी एक क्षेत्र के जिला चिकित्सालय का उन्नयन शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय के तौर पर किया जाना है। यानी कोई अलग से नया मेडिकल कॉलेज नहीं खोला जा रहा है। दूसरी बात इन तीन संसदीय क्षेत्रों के जिला चिकित्सालय को ही चिकित्सा महाविद्यालय में उन्नयन किया जाएगा। ऐसे में छतरपुर तथा टीकमगढ़  दो जिले तो मेडिकल कॉलेज की दौड़ में आधिकारिक तौर पर शामिल ही नहीं है। इधर तीन संसदीय क्षेत्रों के चार जिला अस्पताल यानी दमोह पन्ना कटनी और सतना में से किसी एक का उन्नयन मेडिकल कॉलेज के तौर पर किया जाना है। और उसमें भी सतना में मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान कर चुके हैं। और इस बाबत पत्र भी केंद्र सरकार को भेजा जा चुका है। जिसकी जानकारी संसदीय कार्य मंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा 9 मार्च को विधान सभा में भी दे चुके हैं। उक्त हालात स्पष्ट तौर पर सामने आने के बाद दो बातें साफ होती हैं। नया मेडिकल कॉलेज बुंदेलखंड के हाथों से निकल कर विंध्य के सतना पहुंच गया है। ऐसे में बुंदेलखंड के चारों जिलों के लोगों को अब एक जुटता के साथ अपनी दावेदारी रखना आवश्यक हो गया है। दूसरी बात अभी तक जन प्रतिनिधिओं द्वारा जो आश्वासन जनता को मेडिकल के संदर्भ में दिए जाते रहे हैं उन्हें पूरा करने एक बार पुनः दबाव बनाने की आवश्यकता हो गई हैअटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट
http://atalnews24.co
About Atal R Jain 2172 Articles
सतत पत्रकारिता का 27 वां वर्ष... 1990-2008 ब्यूरो चीफ दैनिक भास्कर भोपाल, 2009-2014 रिपोर्टर साधना न्यूज मप्र-छग, 2011-2015 रिपोर्टर न्यूज एक्सप्रेस, 2012-से ब्यूरो चीफ जनजन जागरण भोपाल, 2013-2016 ब्यूरो चीफ ओम टीवी न्यूज, 2017 से atalnews24.co [महत्वपूर्ण घटनाक्रम-फोटो-वीडियों 9425095990 पर तत्काल वाटसअप करें ]

1 Comment

  1. यह बुन्देलखण्ड की आम जन मानस एवं सभी बुन्देलखण्ड वासियों की भावनाओं को आहत होगा अगर ऐसा कुछ होता है
    इसका दुष्परिणाम बहुत बुरा हो सकता है ?क्योंकि बुंदेलखंडी अब अपने हक की लड़ाई लड़ते रहेंगे और चुप नही बैठेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.