नल कनेक्शन के 3500 रुपए लिए जाने का विरोध..बसपा के 24 घण्टे के धरना प्रदर्शन को मिला जनसमर्थन

http://atalnews24.co
पथरिया में बसपा का 24 घंटे का धरना प्रदर्शन जारी- दमोह। नगरीय निकायों द्वारा नल कनेक्शन का शुल्क 3500 रुपये निर्धारित किये जाने का लोगो द्वारा विरोध  करते हुए आपत्ति जताई जाती रही है। जिसके बाद पिछले दिनों यह मामला वित्त मंत्री जयंत माया के मलैया के संज्ञान में लाए जाने पर उन्होंने यह शुल्क एक हजार रुपए कराने लोगों को आश्वस्त किया था।  इधर पथरिया नगर में भी नगर परिषद द्वारा नए नल कनेक्शन के लिए 3500 रु लिए जा रहे है। जिसकी पर रोज में जिसके विरोध में बहुजन समाज पार्टी ने मोर्चा खोल दिया है। पथरिया नगर परिषद द्वारा नल जल योजना कनेक्शन में नगर वासियो से 3500 रुपये की अवैध वसूली की जा रही है। जिसके विरोध में बहुजन समाज पार्टी द्वारा 24 घण्टे का धरना प्रदर्शन अम्बेडकर तिराहा पथरिया में किया जा रहा है। इस मामले में जिला पंचायत की उपाध्यक्ष बसपा नेत्री श्रीमती रामबाई/ गोविंदसिंह का कहना है कि इतने छोटे नगरी निकाय में नल कनेक्शन के नाम पर इतनी अधिक राशि लेकर गरीब लोगों के साथ अन्याय किया जा रहा है। इसके विरोध में बसवा द्वारा अभी 24 घंटे का धरना देकर चेतावनी दी जा रही है। उसके बाद भी ध्यान नहीं देने पर प्रवल जन आंदोलन किया जाएगा। बसपा नेता आसाराम चौधरी, दिनेश मिश्रा, भूपेंद्र सोनी, सचिन खरे आदि ने भी धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए पथरिया नगर पंचायत पर मनमाना रवैया तैयार करने का आरोप लगाया बसपा नेताओं का कहना था कि अन्य नगर परिषदों में 1 हजार से ज्यादा राशि नही लग रही। फिर पथरिया नगर पालिका द्वारा क्यों इतनी राशि बसूल की जा रही। बहुजन समाज पार्टी की मांग है की नल जल कनेक्शन में 500 रुपये प्रति मकान लिया जावे जो उचित और न्यायोचित है। धरने में बड़ी संख्या में बसपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।
http://atalnews24.co
About Atal R Jain 2172 Articles
सतत पत्रकारिता का 27 वां वर्ष... 1990-2008 ब्यूरो चीफ दैनिक भास्कर भोपाल, 2009-2014 रिपोर्टर साधना न्यूज मप्र-छग, 2011-2015 रिपोर्टर न्यूज एक्सप्रेस, 2012-से ब्यूरो चीफ जनजन जागरण भोपाल, 2013-2016 ब्यूरो चीफ ओम टीवी न्यूज, 2017 से atalnews24.co [महत्वपूर्ण घटनाक्रम-फोटो-वीडियों 9425095990 पर तत्काल वाटसअप करें ]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.