हार्दिक ने कहा.. राजनीति करने नहीं किसानों की आवाज उठाने आए हैं.. आपस में भिड़े कांग्रेसी, भार्गव ने कहा सरदारों के मोहल्ले में सैलून का क्या काम..

http://atalnews24.co
 किसान सम्मेलन में हार्दिक सुनने को उमड़ा सैलाब- गढ़ाकोटा। प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव को उनके ही क्षेत्र में घेरने के लिए विरोधियों द्वारा बनाए जा रहे चक्रव्यूह मैं एक बार फिर स्थानीय नेताओं के दाव उलटे पढ़ते नजर आए हैं। रविवार को गुजरात के युवा तुर्क हार्दिक पटेल की किसान सम्मेलन में जोरदार एंट्री के बावजूद उनकी कुछ बातों से भार्गव विरोधी नेताओं की इस आयोजन की मंशा अधूरी रहती नजर आई। वही हार्दिक के जाते ही मंच पर दो गुटों के बीच जिस तरह से जूतम पैजार के हालात निर्मित हुए उसने कांग्रेस की गुटबाजी की भी कलाई खोल दी। इधर मंत्री गोपाल भार्गव ने पलटवार किया कि सरदारों के मोहल्ले में सैलून की कोई जरूरत नहीं है। रायसेन जिले के बेगमगंज से राहतगढ़ सागर रहली मै रोड शो करते हुए गढ़ाकोटा पहुंचे युवा नेता हार्दिक पटेल के स्वागत हेतु स्थानीय कांग्रेस नेताओं के बीच जबरदस्त उत्साह का माहौल देखने को मिला। कई मौके पर तो ऐसा महसूस हुआ मानो यह आयोजन OBC फ्रंट का ना होकर INC यानी इंडियन नेशनल कांग्रेस का हो। मंच पर कांग्रेस के पिछड़े नेताओं के साथ राज्यसभा सांसद राजमणि पटेल की उपस्थिति के बीच संघ परिवार से जुड़ा एक बड़ा चेहरा ओबीसी यूनाइटेड फ्रंट के प्रमुख कर्ता दमोह को ऑपरेटिव बैंक के उपाध्यक्ष बहादुर सिंह लोधी के रूप में सबके ऊपर भारी पड़ता नजर आया। बहादुर मासाब द्वारा कांग्रेस भाजपा को लेकर हार्दिक पटेल की मौजूदगी में कहीं गई खरी-खरी बातों के बाद तो कुछ पल के लिए सन्नाटे जैसे हालात भी बनते नजर आए। इस दौरान सभा स्थल पर मौजूद हजारो की भीड़ मैं भार्गव विरोधियों पर जहां बेचैनी का ब्रह्मास्त्र असर करता नजर आया। वही हार्दिक पटेल को सुनने के लिए आए लोगों के बीच भी बेचैनी बढ़ती नजर आई। और जब हार्दिक ने बोलना शुरु किया तो " एक लाठी से सबको हाकने" की बुंदेली कहावत को चरितार्थ् करतेे नजर आए। हार्दिक पटेल ने कहा कि में अपने को बेच दूं तो राजनीति में 1200 करोड़ की कूबत है मेरी। बुंदेलखंड के पिछड़ेपन को लेकर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि देश का अन्नदाता किसान गरीब और बेचारा बना हुआ है। मैं यहां पर राजनीति करने नहीं किसानों की आवाज उठाने आया हूं। गुजरात के दो दाढ़ी बाले बड़े बदमाश का जिक्र करते हुए प्रदेश सरकार और पंचायत मंत्री पर भी निशाना साधते हुए नर्मदा घोटाले को लेकर कटाक्ष किया।  मंत्री पुत्र को दी पकौड़ा का ठेला लगाने की सलाह- हार्दिक पटेल ने कहा कि आज के हालात में बुन्देखण्ड की जनता को स्वीकारना होगा आप कमजोर हो गए हैं। में इसलिए नही आया हूँ कि किसी को जिताना या हराना हमारा मकसद है। हम विरोध नही करेंगे, हम सल्यूशन देंगे। उन्होंने दार्शनिक अंदाज में कहा कि नेताओ को जो कुछ देना होता है वह दे देते है। अपने ऊपर फेंकी गई सियाही पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वह अंध वक्त था। मंत्री पुत्र को पकोड़ा ठेला लगाने की सलाह देने से भी हार्दिक नहीं चूके। हार्दिक पटेल ने दिल्ली में 12 करोड़ की लागत से भाजपा का नया कार्यालय भवन बनने पर कटाक्ष करते हुए कहा कि राम के नाम पर सत्ता हासिल करने वाले राम मंदिर तो नहीं बनवा पाए, अपना नया कार्यालय जरूर बनवा लिया। हार्दिक ने और भी बड़ी-बड़ी बातें कही और अपनेे दो साथियो के नही आ पाने पर सफाई देतेेे हुए कहा कि यहां के लिए मैं अकेला ही काफी हूं। हार्दिक के जाते ही कांग्रेस महिलानेत्री का गुस्सा फूटा- ओबीसी यूनाइटेड फ्रंट के बैनर तले किसानों के नाम पर  किए गए इस कार्यक्रम में एक लाख की भीड़ जुटाने का दावा जहां एक तिहाई पर सिमटता नजर आया। वही  हार्दिक की सभा से ना किसानों के भले की की कोई बात निकल कर सामने आई और ना ही पिछड़ों की। कांग्रेस के दो गुटों के बीच मंच पर ही तू तू मैं मैं से शुरू हुआ तकरार कांग्रेसियों के अलावा भार्गव विरोधियों के मंसूबो पर भी पानी फिरता नजर आया। इस दौरान आयोजक भी असहाय बनते नजर आए। हार्दिक के जाते ही मंच पर दो गुटों के बीच जिस तरह से जूतम पैजार के हालात निर्मित हुए उसने सूत ना कपास जुलाहों में लठालठी की कहावत को चरितार्थ करते हुए कांग्रेस की गुटबाजी की भी कलई खोल दी। कांग्रेस टिकट के दावेदार एक ही वर्ग के रहली क्षेत्र के नए और पुराने नेताओं के बीच तकरार का लोगों ने खूब मजा लिया। तथा इसके वीडियो भी वायरल किये गए। इस दौरान कांग्रेस में कुछ दिनों पूर्व ही सम्मिलित हुई एक महिला नेत्री का गुस्सा तो सातवें आसमान पर नजर आया जो कैमरों को चलते हुए देखने के बाद ही ठंडा पड़ा। कुल मिलाकर 7 बार के विधायक पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव को घेरने के लिए आयोजित कार्यक्रम के बाद आपसी विवादों के कारण कांग्रेस के दो गुट आपस में खुद घिरते हुए नजर आए।  गोपाल भार्गव ने कहा समय खराब कर रहे विरोधी- हार्दिक पटेल की बयानबाजी के बाद मीडिया का रुख सीधा पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव की तरफ नजर आया। श्री भार्गव ने  विरोधियों पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि ये गोपाल भार्गव का विधानसभा क्षेत्र है। यहां की जनता ही बताएंगी आने वाले चुनावों में हम कितने वोट से जीतते है।यहा का रिजल्ट खुलने के बाद हम उन्हें फिर से सागर बुलाएंगे और दिखाएंगे कि स्थिति क्या है। भार्गव यही नही रुके उन्होंने आगे कहा कि सरदारों के मुहल्ले में आकर वो(सैलून) की दुकान न खोले। सैलून वही खोलें जहां पर लोग शेविंग बनवाते है। सरदारों के मोहल्ला में सैलून खोलने का कोई फायदा नही, वे बेवजह ही अपना समय बर्बाद कर रहे है। अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट
http://atalnews24.co
About Atal R Jain 2303 Articles
सतत पत्रकारिता का 27 वां वर्ष... 1990-2008 ब्यूरो चीफ दैनिक भास्कर भोपाल, 2009-2014 रिपोर्टर साधना न्यूज मप्र-छग, 2011-2015 रिपोर्टर न्यूज एक्सप्रेस, 2012-से ब्यूरो चीफ जनजन जागरण भोपाल, 2013-2016 ब्यूरो चीफ ओम टीवी न्यूज, 2017 से atalnews24.co [महत्वपूर्ण घटनाक्रम-फोटो-वीडियों 9425095990 पर तत्काल वाटसअप करें ]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.