भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अब महाकौशल से.. सांसद राकेश सिंह के जरिये CM शिवराज ने अनेक निशाने साधे..!

http://atalnews24.co
राकेश सिंह के जरिये महाकौशल को बड़ी जिम्मेदारी- भोपाल। विधानसभा चुनाव के साल में मप्र भारतीय जनता पार्टी का अध्यक्ष पद महाकौशल के खाते में देकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक तीर से अनेक निशाने साधने की कोशिश की है। कभी पूर्व मुख्यमंत्री  उमा भारती के खास सिपहसालार रहे राकेश सिंह का नाम केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार के दौरान हर बार प्रहलाद पटेल के साथ सुर्खियों में आता रहा है। परंतु अब उनको भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष बनवा कर संस्कारधानी को बड़ी जिम्मेदारी देकर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ईश्वरदास रोहाणी के बाद रिक्त शून्यता को भरने का भी प्रयास किया गया है।   2018 के विधानसभा चुनाव के रण में सांसद राकेश सिंह भाजपा के सारथी बनकर चुनावी समर में पार्टी तथा शिवराज सिंह चौहान को अपनी साफ-सुथरी छवि और जुझारू संघर्ष क्षमता से कितना लाभ पहुंचाएंगे इसका पता नतीजों के बाद ही लग सकेगा। सबको साथ लेकर चलने की क्षमताओं में माहिर राकेश सिंह के सामने चुनावी साल में कम समय में पार्टी संगठन को अधिक मजबूती देना और गुटबाजी को दूर करना सबसे बड़ी चुनौती होगी। उमा, शिवराज से लेकर मोदी शाह तक के करीबी- 2004 में पहली बार सांसद चुने गए श्री राकेश सिंह जबलपुर से अपनी चुनावी जीत की हैट्रिक लगा चुके हैं। शुरुआती दौर में इनको पार्टी संगठन में आगे बढ़ाने तथा सांसद की टिकट दिलाने से लेकर जीत में ततकालीन मुख्यमंत्री उमाश्री भारती की खास भूमिका रही है। उमा समर्थक सांसदों में इनकी गिनती प्रहलाद पटेल, चंद्रभान सिंह, गणेश सिंह आदि के साथ की जाती थी। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह  तथा प्रदेश के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह के रिश्ते में खास राकेश सिंह को उमाजी के जनशक्ति पार्टी बना लेने के बाद मुख्य मंत्री शिवराज सिंह के करीब लाने में भूपेंद्र सिंह का अहम रोल रहा है।  इसी कड़ी में कल तक भाजपा प्रदेश अध्यक्ष हेतु भूपेंद्र सिंह का नाम भी लिया जा रहा था। परन्तु भूपेंद्र सिंह ने राकेश सिंह का नाम आगे करके बाद मुख्यमंत्री से लेकर पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं को उनके नाम पर राजी करने में सफल रहे। राकेश सिंह का नाम भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में नरेंद्र सिंह तोमर, नरोत्तम मिश्रा, राजेंद्र शुक्ला से आगे निकल गया और पार्टी के प्रदेश प्रभारी वा राष्ट्रीध्य उपाध्यक्ष डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे को इनके नाम की घोषणा करने में कोई परेशानी नहीं हुई।   भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की कमान संभालते ही चुनावी वर्ष में राकेशसिंह को अनेक चुनौतियां का सामना करना पड़ेगा। अभी तक सीधी साधी राजनीति करने वाले श्री सिंह को पार्टी की गुटबाजी, आने वाले समय में टिकट वितरण के दबाव तथा संगठन में जातिगत समीकरणों को संतुलित करना सबसे बड़ी चुनौती होगा। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का पद महाकौशल, संस्कारधानी के खाते में जाने तथा राकेश सिंह के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष घोषित होने पर बहुत-बहुत बधाई शुभकामनाओं के साथ अन्य मुद्दों पर चर्चा फिर कभी करेंगे। अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट
http://atalnews24.co
About Atal R Jain 2151 Articles
सतत पत्रकारिता का 27 वां वर्ष... 1990-2008 ब्यूरो चीफ दैनिक भास्कर भोपाल, 2009-2014 रिपोर्टर साधना न्यूज मप्र-छग, 2011-2015 रिपोर्टर न्यूज एक्सप्रेस, 2012-से ब्यूरो चीफ जनजन जागरण भोपाल, 2013-2016 ब्यूरो चीफ ओम टीवी न्यूज, 2017 से atalnews24.co [महत्वपूर्ण घटनाक्रम-फोटो-वीडियों 9425095990 पर तत्काल वाटसअप करें ]

1 Comment

  1. ईटीवी द्वारा राकेश सिंह की नियूक्ति पर “लोधी बैंक वोट साधने” की भ्रामक न्यूज चलाई है जिससे प्रदेश का लोधी समाज नाराज है। राकेश सिंह लोधी नही है कि़तु नेता सहज सरल है। वधाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.