पन्ना.. गोना कराकर लौट रही बारातियो की पिकअप पलटी.. 5 की मौत, खुशियां मातम में बदली..

http://atalnews24.co
श्यामगिरी मार्ग चापा मोड पर भीषण हुई दुर्घटना- बुंदेलखंड में मालवाहक गाड़ियों का उपयोग धड़ल्ले से सवारियों को ढोने में किया जाता है। ट्रैक्टर-ट्रालियां हो या छोटा हाथी वाहन, या फिर पिकअप जैसे माल वाहक। इनमें सवारियों को भरे जाने, पहाड़ी दुर्गम रास्तों पर इन वाहनों के चलने और दुर्घटनाग्रस्त होने के नजारे सामने आने के बाद भी ना बाहन चालक सवारियों को बैठाने से चूकते हैं और ना ग्रामीण जन मालवाहक में बैठने से। बुधवार को पन्ना जिले में एक ओवरलोड पिकअप के पलटने के हादसे ने पूरे बुंदेल खंड को हिलाकर रख दिया है।  पन्ना जिले के सलेहा थाना क्षेत्र में बुधवार दोपहर एक लड़की का गोंना करा कर लौट रहे आदिवासी परिवार पर मुसीबतों का कहर टूट पड़ा। शादी की खुशियां मातम में बदलने में देर नहीं लगी। पिकअप पलटने से  दो बुजुर्गों सहित चार लोगों की मौत हो गई। वही 26 घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका उपचार जारी है। दुर्घटना की जानकारी लगने पर सागर संभाग के कमिश्नर व आईजी एवं पन्ना के कलेक्टर व एसपी ने अस्पताल पहुंचकर घायलों की स्थिति देखी तथा उनको त्वरित इलाज के निर्देश दिए। बताया जा रहा है कि पन्ना जिले के कल्दा थाना सलेहा क्षेत्र से एक बच्ची का गौना कराकर तकरीबन 30 लोग पोसी थाना शाहनगर एक पिकअप वाहन एमपी 21 जी 2088 में जा रहे थे। तभी अचानक कल्दा श्यामगिरी मार्ग चापा मोड के पास वाहन पलट गया। जिससे शादी की खुशियां मातम में बदलने में देर नहीं लगी। दो लोगो ने मौके पर ही दम दोड दिया, वही दो लोगों की जिला अस्पताल पहुंचने के पहले सांसे रुक गई। 26 लोग  घायल हुुुए जिनमें से कुछ का इलाज जिला चिकित्सालय पन्ना एवं कुछ का इलाज सलेहा अस्पताल में जारी है। दर्दनाक हादसे में मृतकों के नाम गुल्लन, भैयालाल, पचैला एवं नरेश आदिवासी बताए गए हैं। आदिवासी वर्ग के होने के साथ-साथ शाहनगर थाने के कोसी गांव के निवासी बताए जा रहे हैं। पुलिस ने पिकअप मालिक एवं चालक के खिलाफ कमर्शियल वाहन मे सवारी ढोने एवं लापरवाही पूर्वक वाहन चलाने के लिये मोटरव्हीकल एक्ट की धारा 184 एवं 279, 337, 304 भादवि का अपराध कायम करके फरार वाहन चालक की तलाश शुरू कर दी है। इसके बावजूद सवाल यह उठता है लोग कब तक जागरूक होंगे ? कब तक ट्रैक्टर ट्रालियों माल वाहनों में जान जोखिम में डालकर खुद के प्राणों की बाजी लगाते रहेंगे ? इस तरह के हालात को ध्यान में रखकर दमोह में SP विवेक अग्रवाल द्वारा मालवाहक ओके चालकों को सवारी पाए जाने पर ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त करने के निर्देशों का खासा असर देखने को मिला है। बुंदेलखंड के अन्य जिलों में भी इस तरह की कार्यवाही होने से हादसों में कमी की उम्मीद की जा सकती है। अटल राजेन्द्र जैन की रिपोर्ट
http://atalnews24.co
About Atal R Jain 2152 Articles
सतत पत्रकारिता का 27 वां वर्ष... 1990-2008 ब्यूरो चीफ दैनिक भास्कर भोपाल, 2009-2014 रिपोर्टर साधना न्यूज मप्र-छग, 2011-2015 रिपोर्टर न्यूज एक्सप्रेस, 2012-से ब्यूरो चीफ जनजन जागरण भोपाल, 2013-2016 ब्यूरो चीफ ओम टीवी न्यूज, 2017 से atalnews24.co [महत्वपूर्ण घटनाक्रम-फोटो-वीडियों 9425095990 पर तत्काल वाटसअप करें ]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.