जिला अस्पताल गेट पर जोखिम में जान.. ट्रक ने डॉ की कार को टक्कर मारी, बाल बाल बचे डॉ जैन ने कराई FIR..

http://atalnews24.co
अस्पताल गेट पर डॉक्टर की कार को टक्कर मारी- दमोह। 300 बिस्तर वाले जिला अस्पताल के चारों तरफ स्वास्थ्य सेवाओं संबंधी अन्य भवनों का निर्माण हो जाने के बावजूद अस्पताल के बंद पड़े गेटो को गाड़ियों की आवाजाही हेतु चालू कराने में प्रबंधन द्वारा अनदेखी की जा रही है। जिससे अस्पताल कैंपस में मरीजों को लेकर पहुंचने वाली एंबुलेंस, जननी वाहनों सहित ऑक्सीजन सिलेंडर के बाहन भी एक ही गेट से एंट्री लेकर आते जाते है। जिससे मेन गेट पर दिन में अनेक बार दुर्घटना के हालात निर्मित होते रहते हैं। जिला अस्पताल गेट पर पुलिस चौकी के सामने सोमवार शाम ऑक्सीजन के खाली सिलेंडर को लेकर वापस जा रहे एक ट्रक ने डॉ  गिरीश जैन की कार को टक्कर मार दी। जिससे कार में सवार गिरीश जैन की जान जोखिम में पढ़ती नजर आई। इस दौरान ट्रक चालक की लापरवाही साफ तौर पर समझ में आई। हादसे के बाद मौके पर लोगों की भीड़ लग गई। अस्पताल चौकी पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। घटना के प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि ऑक्सीजन के खाली सिलेंडर लेकर जा रहा ट्रक क्रमांक mp 18 जी 18 54 अस्पताल गेट पर आने के बाद अचानक रुक गया। इसी दौरान डॉ गिरीश जैन अस्पताल से ड्यूटी करके निकल रहे थे। ट्रक चालक ने अचानक ट्रक को पीछे करना शुरू कर दिया जिससे डॉ की कार साइड का हिस्सा ट्रक की चपेट में आ गया। लोगों द्वारा जोर से आवाज में लगाए जाने के बावजूद ट्रक चालक लापरवाह बना रहा। डॉ गिरीश जैन ने बताया कि उनकी हुंडई कार क्रमांक MP 04-CK-4075 को ट्रक की टक्कर से कार एक गेट क्षतिग्रस्त हो गया है,जिसकी रिपोर्ट दर्ज कराई है। आपको बता दें कि जिला अस्पताल के TB वार्ड तरफ के गेट पर तख्त रखकर अतिक्रमण हो जाने की वजह से सिंघई स्मृति द्वार से ही 24 घंटे आवाजाही होती है। यहां तक की CMHO  ऑफिस से लेकर MCH अस्पताल तक आने जाने वाले सभी वाहन भी इसी गेट से ही आते जाते है। मेन गेट की साइड में एक चाय दुकान संचालन की वजह से भी भीड़ भाड़ हमेशा बनी रहती है। ऐसे में कभी भी मेन गेट पर कोई बड़ा हादसा हो सकता है। जिसके लिए अस्पताल प्रबंधन ही जिम्मेदार ठहराया जाएगा जिला अस्पताल के मेन गेट पर दिन भर मरीजों को लेकर आने वाले वाहनों के अलावा एंबुलेंस, हंड्रेड डायल, 108, पुलिस वाहन तथा मरीजों के परिजनों के निजी वाहनों की एंट्री बनी रहती है। ऐसे में CMOH ऑफिस, अस्पताल स्टाफ, ऑक्सीजन सिलेंडर सहित यहां आने वाले अन्य वाहनों की आवाजाही हेतु TB अस्पताल तरफ का गेट चालू कराना अत्यंत आवश्यक है। कलेक्टर महोदय की अध्यक्षता में पूर्व में रोगी कल्याण समिति की बैठकों में बंद पड़े गेट को चालू कराने प्रस्ताव पारित किया जा चुका है। इसके बावजूद गेट के सामने से अवैध कब्जे हटाने एवं बंद पड़े गेट का उपयोग आवाजाही हेतु शुरू कराने में अस्पताल प्रबंधन तथा सीएमओ ऑफिस द्वारा कोई रुचि नहीं ली गई है। ऐसे में मेन गेट पर कोई बड़ा हादसा होने पर है इसकी जिम्मेदारी भी अस्पताल प्रबंधन की ही कही जाएगी। अभिजीत  जैन की रिपोर्ट
http://atalnews24.co
About Atal R Jain 2303 Articles
सतत पत्रकारिता का 27 वां वर्ष... 1990-2008 ब्यूरो चीफ दैनिक भास्कर भोपाल, 2009-2014 रिपोर्टर साधना न्यूज मप्र-छग, 2011-2015 रिपोर्टर न्यूज एक्सप्रेस, 2012-से ब्यूरो चीफ जनजन जागरण भोपाल, 2013-2016 ब्यूरो चीफ ओम टीवी न्यूज, 2017 से atalnews24.co [महत्वपूर्ण घटनाक्रम-फोटो-वीडियों 9425095990 पर तत्काल वाटसअप करें ]

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.