आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओ का मानदेय दुगना, पेंशनरों को सातवां वेतनमान.. कर्मचारियों को सौगात

http://atalnews24.co
भोपाल। मंगलवार को  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में मप्र कैबिनेट की महत्त्वपूर्ण बैठक में करीब 2 दर्जन से अधिक प्रस्तावों पर चर्चा कर के निर्णय लिए गए। वित्त मंत्री जयंत मलैया की अनुपस्थिति में कैबिनेट बैठक में सबसे महत्वपूर्ण निर्णय वित्त विभाग से संबंधित ही रहे। कर्मचारियों से जुड़े मामलों में अगली कैबिनेट निर्णय लिए जाएंगे।
 मध्य प्रदेश के आंगनवाड़ी केंद्रों में कार्यरत सभी कार्यकर्ताओं के मानदेय को दोगुना करने तथा पेंशनरों को सातवें वेतन आयोग का लाभ देने का निर्णय कैबिनेट ने सर्वसम्मति से पारित कर दिया। जिससे प्रदेश के पेंशनरों से लेकर आंगनवाड़ी केंद्रों में जश्न का माहौल देखने को मिल रहा है। प्रदेश कैबिनेट के इस महत्वपूर्ण् निर्णय के दौरान बैठक में प्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया मौजूद नहीं थे। यद्यपि उन्होंने पूर्व में मैं ही अपनी सहमति जता दी थी। जिससेे उनकी अनुपस्थिति के बावजूद कैबिनेट की बैठक में इन प्रस्तावो पर मुहर लग गई।  कर्मचारियों से जुड़े सभी मामले अगले कैबिनेट में रखे जाएंगे।
दरअसल मंगलवार को दमोह में बुंदेलखंड और सागर संभाग के पहली पासपोर्ट कार्यालय का शुभारंभ था। सांसद प्रहलाद पटेल की अध्यक्षता और मंत्री श्री जयंत मलैया के आथित्य में आयोजित इस कार्यक्रम की वजह से मंत्री श्री मलैया प्रदेश कैबिनेट की बैठक में सम्मिलित नहीं हो सके। हालांकि कैबिनेट बैठक के दौरान लिए गए इन महत्वपूर्ण निर्णय के संदर्भ में इस कार्यक्रम के दौरान ही मुख्यमंत्री का मोबाइल श्री मलैया के पास पहुंचा था। जिसके बाद श्री मलैया मोबाइल हाथ में लेकर मंच से नीचे उतर कर बात करने चले गए थे। जिसे देख हम जैसे मीडिया कर्मियों ने अंदाजा लगा लिया था कि किसी महत्वपूर्ण मसले पर CM का काल आया है। यह अनुमान बाद में सही साबित भी हुआ। आंगनवाडी कार्यकर्ताओं का मानदेय हुआ दोगुना- लंबे समय तक चली आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की  हड़ताल के बाद अब मप्र में उनके मानदेय को दोगुना करने का महत्वपूर्ण प्रस्ताव कैबिनेट में पारित कर दिया है। जिसके बाद अब आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को 10 हजार रुपए, सहायिकाओ को 5 हजार रुपए और आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को 5700 रुपये मासिक मानदेय प्रदान किया जाएगा। इससे सरकार पर 1100 करोड़ का वित्तीय भार आएगा। पेंशनरों को मिलेगा अब सातवां वेतन आयोग- चुनावी साल में शिवराज सरकार ने प्रदेश के पेंशनरों को भी तोहफा देते हुए सातवें वेतन आयोग की मंजूरी दे दी है जिससे प्रदेश के 3 लाख से अधिक पेंशनर लाभान्वित होंगे। पेंशन में 10% से अधिक की वृद्धि होगी। इससे सरकार पर 3500 करोड़ का भार आएगा।  मध्य प्रदेश कैबिनेट की बैठक में लिए गए निर्णय-  मुख्यमंत्री मप्र जन कल्याण योजना के तहत 13 जून को पूरे प्रदेश में आयोजन होंगे।  मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शाम 7:30 बजे जन कल्याणकारी योजनाओं का शुभारंभ करेंगे। जिला स्तर पर मंत्री इन योजनाओं का शुभारंभ करेंगे। इसको लेकर बैठक में निर्णय लिया गया है
इन प्रस्तावों पर भी लगी मुहर-  1-प्रसूति योजना के तहत गर्भवती महिला को 4 हजार और बच्चा होने के बाद 12 हजार रुपये मिलेंगे। 2-आयुष्मान योजना को मंजूरी से 1 करोड़ परिवार लाभान्वित होंगे।3-अंत्योदय मेले जारी रखे जाएंगे। 4- राजभवन में में दो लोगो की संविदा नियुक्ति को मंजूरी।गुजरात के दो लोगो को राज्यपाल की सेवा में निज सहायक और अटेंडर के पद पर होगे नियक्त। 5-मप्र में किसान आंदोलन को लेकर मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा बातचीत से हल निकालेंगे। 6-मंदसौर जिले की भानपुरा और शामगढ़ में सिंचाई परियोजना को मंजूरी।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं वित्त मंत्री जयंत मलैया द्वारा पूर्व में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं तथा पेंशनरों को दिए गए आश्वासन के आज पूर्ण हो जाने से प्रदेश भर के पेंशनरों व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं में खुशी के साथ उत्साह भरा माहौल देखा जा सकता है। वही विभिन्न मांगों को लेकर  लामबंद कर्मचारियों द्वारा अगली कैबिनेट बैठक का बेसब्री से इंतजार किया जा रहा है। कैबिनेट के फैसले पर अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट
http://atalnews24.co
About Atal R Jain 2303 Articles
सतत पत्रकारिता का 27 वां वर्ष... 1990-2008 ब्यूरो चीफ दैनिक भास्कर भोपाल, 2009-2014 रिपोर्टर साधना न्यूज मप्र-छग, 2011-2015 रिपोर्टर न्यूज एक्सप्रेस, 2012-से ब्यूरो चीफ जनजन जागरण भोपाल, 2013-2016 ब्यूरो चीफ ओम टीवी न्यूज, 2017 से atalnews24.co [महत्वपूर्ण घटनाक्रम-फोटो-वीडियों 9425095990 पर तत्काल वाटसअप करें ]

4 Comments

  1. आंगनवाडी कार्यकर्ताओ और सहायिकाओ का वेतन 10 व 5 हजार अब घर चलाऊ हो गया। चुनावी वर्ष के कारण ही सही शासन का अच्छा निर्णय। मप्र के अतिथियो का वेतन भी कम से कम दोगुना कर देना चाहिये। उन्हे अभी 2500 से 4000 के बीच मासिक वेतन मिलता है।

  2. यदि मध्यप्रदेश के पेंसनर्सको सातवें वेतनमान का लाभ मय एरियर के नहीं दिया गया तो मध्यप्रदेश के 4.5 लाख से अधिक पेंसनर्स मध्यप्रदेश की मौजूदा सरकार के विरुद्ध अपने परिजनों साहित चुनाव में प्रचार कर बीजेपी को वोट न देने अपील करेंगे ।

  3. रोजगार सहायक के बारे मे कब सोचे गे जो दिन-रात शासन की योजनाओ को ग्रामीण तक पहुंचाते है

  4. Sir gram khajri block pathariya me ek farzi tarike se sahayeka k pad PR bharti hui h 2018 tk uska 2 jagah voterlist me nam darz h aur samgar id v 2 jagah h aur rashan kard me v nam farzi tarike she darsaya gya h ladki ka nam ANITA AHIRWAL PITA MITTU AHIRWAL aur pati. PREMLAL AHIRWAL h
    Mene aapati v lagai thi us PR koi karwai nhi hui aavedak h smt SUNITA VISHWAKARMA

Leave a Reply

Your email address will not be published.