रेल राज्य मंत्री का दमोह दौरा केंसिल.. सांसद प्रहलाद पटेल की उपेक्षा पड़ी भारी..! 9 जून को आना था ROB के लोकार्पण में..

http://atalnews24.co
सागर नाका रेलवे ओवर ब्रिज का लोकार्पण अधर में-
दमोह। सागर नाका पर नवनिर्मित रेलवे ओवरब्रिज के लोकार्पण समारोह में 9 जून को आ रहे रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा का दमोह आगमन कार्यक्रम अचानक कैंसिल कर दिए जाने की जानकारी सामने आई है। जिससे इस नवनिर्मित ROB का लोकार्पण अधर में लटकता नजर आनेे लगा है।
रेल भवन नई दिल्ली से गुरुवार की दोपहर दमोह सांसद प्रहलाद पटेल के दमोह कार्यालय पहुंचे एक मेल मैसेज में रेल राज्य मंत्री श्री मनोज सिन्हा का दमोह एवं जबलपुर का दौरा कार्यक्रम निरस्त कर दिए जाने की जानकारी दी गई है। रेल राज्य मंत्री के विशेष अधिकारी श्री RBPS मूर्ति द्वारा जारी किए गए इस पत्र के सोशल मीडिया पर वायरल होते ही तरह तरह की प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। गौरतलब है कि इसके पूर्व में रेल राज्य मंत्री श्री मनोज सिन्हा का 9 जून को दमोह आगमन तथा सागर नाका रेलवे ओवरब्रिज के लोकार्पण कार्यक्रम में सम्मिलित होने का दौरा कार्यक्रम रेल मंत्रालय द्वारा जारी किया गया था। सभी तैयारियां पूरी होने के साथ ही लोगों द्वारा उत्सुकता के साथ इस नए ओवर ब्रिज के उद्घाटन का इंतजार किया जा रहा था। रेल राज्य मंत्री के दमोह के आगमन के मद्देनजर नागरिक रेल सुविधा में वृद्धि तथा नई रेल सेवाओं की उम्मीद लगाए बैठे। इधर मप्र शासन निर्माण विभाग सेतु परियोजना द्वारा ओवर ब्रिज के लोकार्पण समारोह के आमंत्रण पत्र भी मुद्रित करा लिए गए थे तथा भाजपा नेताओं द्वारा इनको सोशल मीडिया पर भी डाला जा रहा था। आमंत्रण पत्र में दमोह सांसद श्री प्रहलाद पटेल का नाम विशिष्ट अतिथि के तौर पर लोक निर्माण मंत्री श्री रामपाल के बाद अंकित किया गया था। जो कहीं ना कहीं सांसद की वरिष्ठता के हिसाब से उनके समर्थकों को ठीक नही लग रहा था। इस आमंत्रण पत्र में बुंदेल खंड विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री रामकृष्ण कुसमरिया और कॉपरेटिव बैंक के अध्यक्ष राजेंद्र गुरु के नाम नहीं लिखे जाने को लेकर चर्चाएं हो रही थी। इधर  Whatsapp पर  जिला भाजपा अध्यक्ष  देवनारायण भैया मित्र मंडल के नाम पर संचालित एक ग्रुप में की गई पोस्ट में रेलवे ओवरब्रिज के  उद्घाटन समारोह में शामिल होने की एक अपील में सांसद प्रहलाद पटेल के नाम का उल्लेख नही था। माना जा रहा है कि भाजपा के जिला सह मीडिया प्रभारी मोंटी रैकवार द्वारा अतिउत्साह में की गई इस पोस्ट को कुछ लोगों द्वारा गंभीरता से लेते हुए सांसद कार्यालय तक पहुंचा दिया गया। और उसके बाद नतीजा सामने है।   माना जा रहा है कि इस पोस्ट के वायरल होकर सांसद श्री प्रहलाद पटेल तक पहुंचने तथा लोक निर्माण विभाग द्वारा छपवाए गए आमंत्रण पत्रों में भी सांसद  का नाम चौथे क्रम पर दिए जाने, बुंदेलखंड विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष का नाम नदारत रहने जैसी बातों का संदेशा रेल राज्य मंत्री श्री मनोज सिन्हा तक पहुंचने के बाद रेल राज्य मंत्री का दमोह आगमन का निर्धारित कार्यक्रम कैंसिल हो गया। इस मामले को लेकर जिला भाजपा अध्यक्ष देवनारायण श्रीवास्तव से जब संपर्क करना चाहा तो उनका मोबाइल आउट ऑफ़ कवरेज एरिया का संदेशा दे रहा था।
उल्लेखनीय है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं दमोह सांसद श्री प्रहलाद पटेल की रेल राज्यमंत्री श्री मनोज सिन्हा से निजी मित्रता और संबंध किसी से छिपे नहीं है। उन्हीं की पहल पर श्री सिन्हा दमोह में रेलवे ओवरब्रिज की ओपनिंग करने के लिए स्वीकृति दी थी। शायद यही वजह है कि अब उनका दमोह कार्यक्रम कैंसिल होने को भी सांसद श्री पटेल की आमंत्रण पत्र एवं सोशल मीडिया पर की जाने वाली उपेक्षा से जोड़कर देखा जा रहा है। अटल राजेंद्र जैन की रिपोर्ट
http://atalnews24.co
About Atal R Jain 2303 Articles
सतत पत्रकारिता का 27 वां वर्ष... 1990-2008 ब्यूरो चीफ दैनिक भास्कर भोपाल, 2009-2014 रिपोर्टर साधना न्यूज मप्र-छग, 2011-2015 रिपोर्टर न्यूज एक्सप्रेस, 2012-से ब्यूरो चीफ जनजन जागरण भोपाल, 2013-2016 ब्यूरो चीफ ओम टीवी न्यूज, 2017 से atalnews24.co [महत्वपूर्ण घटनाक्रम-फोटो-वीडियों 9425095990 पर तत्काल वाटसअप करें ]

1 Comment

  1. अब आया समझ में कैसे 55 दमोह के जनप्रतिनिधि द्वारा सम्मानीय,वरिष्ठजनों,कोअपमानित ,उपेक्षित, करके हतोत्साहित किया जाता है इसी वजह से दमोह में भारतीय जनतापार्टी नहीं भारतीयजयंतपार्टी है

Leave a Reply

Your email address will not be published.