मासूम की मौत पर भड़की भीड़ का हंगामा

http://atalnews24.co
गुस्साए लोगों ने जाम लगाकर किया जमकर हंगामा- जबेरा मेन रोड पर शुक्रवार दोपहर सड़क क्रॉस कर रहे एक बच्चे को बस स्टैंड के सामने एक 407 ने रौंद दिया। जिससे मौके पर ही बच्चे के परखच्चे उड़ गए। दर्दनाक हादसे के बाद एकत्रित गुस्साई भीड़ ने जाम लगाते हुए जमकर हंगामा किया। इस दौरान लोगों को समझाने पहुंचे SDM का घेराव करते हुए लोगों ने टीआई, तहसीलदार को खदेड़ दिया। बाद में ASP अरविंद दुवे, अजाक DSP मुकेश अबिद्रा के साथ दमोह से वज्र वाहन के साथ पुलिस को भेज कर हालात पर काबू पाया गया। जानकारी के अनुसार 9 साल का अमन अपनी मां शकुन कुचबंदिया के साथ समीप के गांव से बस से जबेरा आया था। बस से उतर कर सड़क पार करते समय जबलपुर तरफ से आ रही एक तेज रफ्तार 407 गाड़ी ने बच्चे को अपनी चपेट में ले लिया। जिससे क्षत-विक्षत हो गए मासूम की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद लोगों ने पीछा करते हुए 407 चालक को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। वही मौके पर पहुची पुलिस से गुस्साए लोगों की बहस शुरू हो गई। वही लोगों ने सड़क पर जाम लगाते हुए आक्रोश जताना शुरु कर दिया। इस दौरान टीआई तथा तहसीलदार ने जब लोगों को समझाने का प्रयास किया तो उनको भी हालात के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए भीड़ ने उनके साथ धक्का-मुक्की करते हुए खदेड़ दिया तथा SDM को घेरे में ले लिया। बताया गया है लोगों के गुस्से से बचने के लिए थाना प्रभारी, तहसीलदार को एक घर में छुप कर अपनी जान बचानी पड़ी। दरअसल जबेरा में आए दिन होने वाले सड़क हादसों की मुख्य वजह बस स्टैंड का उपयोग नहीं होना तथा सड़क किनारे के अतिक्रमण है। पिछले दिनों अतिक्रमण हटाने के लिए 9 जून की तारीख मुकर्रर की गई थी परंतु इसके बाद पुलिस प्रशासन पीछे हट गया। 1 सप्ताह पूर्व जबेरा थाना प्रभारी ने बस स्टैंड परिसर से बसों का संचालन शुरू करा दिया था। परंतु इसके बाद बसों की दलाली करने वाले गुंडा तत्वों ने अपनी हेकड़ी दिखाते हुए पुनह सड़क  किनारे से बसों का संचालन शुरू करा दिया। जिसकी जिसकी ओर पुलिस द्वारा ध्यान नहीं दिए जाने से आज इस दुर्घटना के हालात सामने आए हैं। आज भी जबेरा का माहौल बिगाड़ने में वह लोग आगे नजर आए जो बस स्टैंड से बसों का संचालन नही होने दे रहे थे। जबेरा में आए दिन निर्मित होने वाले इस तरह के हालातों को ध्यान में रखकर एक तरफ से सभी अतिक्रमण बिना भेदभाव के हटाए जाने तथा लचर कार्यप्रणाली के चर्चित थाना प्रभारी, तहसीलदार सहित अन्य स्टाफ को तत्काल हटाए जाने की आवश्यकता महसूस करते हुए एसपी तिलक सिंह से जबेरा में पूर्व मेंं टीआई रहे मुकेश अबिद्रा को उसी तरह थाना प्रभारी बनाए जाने की मांग की जा रही है जिस तरह उन्होंने DSP सुरेंद्र सिंह के जिम्मे दमोह कोतवाली की कमान सौंपी थी। जबेरा के हालात पर राजेंद्र अटल की रिपोर्ट
http://atalnews24.co
About Atal R Jain 2303 Articles
सतत पत्रकारिता का 27 वां वर्ष... 1990-2008 ब्यूरो चीफ दैनिक भास्कर भोपाल, 2009-2014 रिपोर्टर साधना न्यूज मप्र-छग, 2011-2015 रिपोर्टर न्यूज एक्सप्रेस, 2012-से ब्यूरो चीफ जनजन जागरण भोपाल, 2013-2016 ब्यूरो चीफ ओम टीवी न्यूज, 2017 से atalnews24.co [महत्वपूर्ण घटनाक्रम-फोटो-वीडियों 9425095990 पर तत्काल वाटसअप करें ]

3 Comments

  1. जबेरा के जिन लोगों को आपने अपनी न्यूज़ के माध्यम से आसामाजिक एवं गुंडा तत्व घोषित करने का प्रयास किया है क्या आपइसका प्रमाण दे सकते हैं मैं इस न्यूज़ को कोर्ट ले जाऊंगा इस न्यूज़ की प्रमाणिकता की जांच होना अति आवश्यक है वरना सामाजिक मुद्दों की आवाज ऐसे ही दबा दी जाएगी इस वेबसाइट के संचालक से जानना चाहूंगा की आपका संवाददाता कल 16 जून को जबेरा में उपस्थित था या नहीं……

    • जबेरा में कल जो भी हुआ उसे सामाजिक नहीं कहां जा सकता। इस तरह की घटनाओं को आसामाजिक तत्व ही अंजाम देते है। जिन लोगों ने माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया, शुरूआत की तथा वर्ग विशेष के लोगों को भड़काया, टीआई, तहसीलदार आदि अधिकारियांं के साथ जो कुछ हुआ वह किसी से छिपा नहीं है। हम सभी जिस समाज में रह रहे है वहां पर शांति, भाईचारे की नैतिक जिम्मेदारी भी हमारी ही है। इसी सामाजिक जिम्मेदारी को ध्यान में रखकर उपद्रव की शुरूआत करके भड़काने वालों के नामों का न्यूज में खुलासा करने के बजाय पुलिस जांच के लिए छोड़ दिया गया है। आगे आप स्वयं समझदार है, यदि आपकों न्यूज से कोई समस्या है तो व्यक्तिगत तौर पर भी संपर्क करके बस्तु स्थिति से अवगत करा सकते है। जयहिंद

  2. भाईसाहब १६ जून को ततत्कालीन अधिकारियों द्वारा १जुलाई तक जबेरा का अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही करना सुनिश्चित किया गया था जो कि आजतक नहीं हटाया गया…

Leave a Reply

Your email address will not be published.